अणु तेल के क्या फायदे है2021 ,उपयोग और घटक | anu tail use | anu taila uses in hindi

अणु तेल के क्या फायदे है ,उपयोग और घटक | anu tail use | anu taila uses in hindi | how to use anu taila 

अणु तेल क्या होता है ?anu taila uses in hindi 

अणु तेल के प्रयोग से नाक में अगर कफ जम गया है ,तो वह बाहर निकल जाता है | यह इन्द्रियों में होने वाले दोष को दूर करता है | इसके सेवन से आँख ,नाक ,कान बहुत बलवान हो जाता है | अगर आपकी दाढ़ी और बाल सफ़ेद हो रहा है | तो अणु तेल का प्रयोग अवश्य करना चाहिए | 

इसको अधिक से अधिक शरद और बसंत ऋतुओ में इसका प्रयोग करना चाहिए | इससे बालो का असमय गिरना बंद हो जाता है | 

अणु -तेल के घटक कौन -कौन से है |anu tail ingredients 

  • सफ़ेद चन्दन 
  • अगर 
  • तेजपात 
  • दारुहल्दी की छाल 
  • मुलेठी 
  • बलामूल
  • पुण्डरीककाष्ठ 
  • छोटी इलायची 
  • वायविडंग 
  • बेल छाल 
  • कमलफूल 
  • नेत्रबाला 
  • खस 
  • केवटीमोथा 
  • दालचीनी 
  • नागरमोथा 
  • अनंतमूल 
  • शालपर्णी 
  • जीवन्ती 
  • देवदारु 
  • शतावर 
  • रेणुका 
  • छोटी कटेरी 
  • सुरभि कमलकेशर 
  • माहेन्द्र जल (वर्षा का संचित किया हुआ जल )
  • क्वाथ 
  • बकरी का दूध 

अणु तेल बनाने की विधी | 

इसको बनाने के लिए ऊपर जो भी composition दिया है | सफ़ेद चन्दन ,अगर ,तेजपात ,दारुहल्दी की छाल ,मुलेठी ,बलामूल ,पुण्डरीकाष्ठ ,छोटी इलायची ,वायविडंग ,बेल छाल ,कमल का फूल ,नेत्रबाला ,खस ,केवटीमोथा ,दालचीनी ,नागरमोथा ,अनंतमूल ,शालपर्णी ,जीवन्ती ,देवदारु ,शतावर ,रेणुका ,छोटी कटेरी ,सुरभि कमलकेशर ,ये प्रत्येक द्रव्य 1 -1 तोला लेकर अच्छी तरह से कुट ले और 2600 तोला माहेन्द्र जल (वर्षा का जल )में डालकर क्वाथ बनाकर ,जब दशमांश जल शेष रह जाये तो उतारकर अच्छी तरह से छान ले | इसमें तिल का तेल 26 तोला लेकर ,फिर उपरोक्त 260 तोले क्वाथ के दश भाग करे और प्रथम पाक में 26 तोला तेल और 26 तोला क्वाथ डालकर पकाये | पाक सिद्ध हो जाने पर पुनः 26 तोला तेल में 26 तोला क्वाथ मिलाकर पकाये | इस प्रकार 9 बार पाक करे ,अंतिम पाक में 26 तोला तेल शेष 26 तोला क्वाथ और बकरी का दूध 26 तोला मिलाकर पकाये | पाक सिद्ध हो जाने पर छान कर अच्छी तरह से सुरक्षित रख ले | 

Note -1 तोला =11. 66 ग्राम 

इसे भी पढ़े -स्वपनदोष और वीर्य को गाढ़ा बनाने की अचूक औषधि |

अणु तेल का उपयोग कैसे करे | anu tail use 

सबसे पहले सिर को अच्छी तरह से धोकर ,रुई के फाहे से तेल में भिगोकर 3 बार नाक में डाले | इस प्रकार 3 नस्य प्रति तीसरे दिन लेना चाहिए | नस्य लेने वाले पुरुष को जहा वायु सीधा प्रवेश न करे | ऐसे स्थान पर रहना चाहिए | अर्थाथ उष्ण स्थान पर रहे ,अच्छे भोजन का सेवन करे ,इन्द्रियों को अपने वश में रखे ,यह तेल तीन दोषो को नष्ट करता है | इन्द्रियों की बलवृद्धि करता है | इस तेल का समुचित काल में विधिपूर्वक प्रयोग करने से मनुष्य उत्तम गुणों को प्राप्त करता है | मनुष्य को अणु तेल का प्रयोग शरद और बसन्त तीनों ऋतुओ में लेना चाहिए | 

जो मनुष्य समय पूर्वक इसका सेवन करते है ,उनके आँख ,नाक, कान  आदि इन्द्रियों की शक्ति की वृद्धि होती है | और सिर तथा मूँछ के बाल सफ़ेद नहीं होते और न गिरते है ,किन्तु उत्तम प्रकार से बढ़ते है | इसके अतरिक्त इस तेल के सेवन से सर का दर्द ,ढोड़ी का जकड़ना ,ये विकार नष्ट हो जाते है ,यथा सिर और कपाल की शिराये ,सन्धिया आदि बलवान हो जाती है | चेहरा भरा हुआ ,स्वर स्थिर और गंभीर हो जाता है | इन्द्रियाँ निर्मल ,शुद्ध और बलयुक्त हो जाती है | 

जल्दी बुढ़ापा का अनुभव नहीं होता है | 

अणु तेल के क्या फायदे है | anu taila benefits 

  • इसके सेवन से इन्द्रियों ,ऑंख ,नाक ,कान ,बहुत ही मजबूत हो जाती है | 
  • इसके प्रयोग से बाल ,दाढ़ी सफ़ेद होना बंद हो जाती है | 
  • यह शरीर की शिराओं ,नलिकाओं ,को मजबूत बनाती है | 
  • अगर सूजन कही भी है उसको सही करने का काम करता है |  
  • अगर शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द है ,सिर में दर्द ,यह उसको ठीक करता है | 
  • यह कफ को साफ करता है | 
  • जुकाम ,सर्दी में लाभदायक | 
  • यह शरीर को सुडोल और आकर्षित बनाता है | 
  • त्वचा को साफ बनाता है ,दाग धब्बा को मिटाता है | 
  • घुटनो में किसी कारणवश दर्द है उसको सही करता है | 

अणु तेल सेवन विधी | anu taila patanjali dosage 

इसके प्रयोग करने की विधी बहुत ही आसान है | सबसे पहले सुबह उठकर अच्छी तरह से मुँह धो ले ,फिर नाक को भी अच्छी तरह से धो ले | फिर रुई के फाहे में अणु तेल को लेकर 2 -3 बूँद नाक में डाले | सर तकिया पर रखे | अगर एक नाक में अणु तेल डाल रहे तो दूसरा बंद रखे | और दूसरे में डाल रहे है पहला बंद रखे | 

तेल डालने के बाद सिर ,हाथ ,पैर पर लगाकर मालिश करे ,लाभ होगा | 

अणु तेल के नुकसान | anu taila uses and side effects 

इस दवा का कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं देखा गया है | लेकिन प्रयोग करने से पहले चिकित्सक से जरूर पूछे | 

अणु तेल का मूल्य | 

  • Divya anu taila price 

20 ml की price 25 रुपये है | 

  • Vyas anu tail 

60 ml की price 135 रुपये है | 

  • Jiva anu oil 

20 ml की price 240 रुपये है | 

  • Basic ayurveda anu taila 

10 ml की price 78 रुपये है | 

कौन -कौन सी company इस औषधि को बनाती है | 

  • Patanjali anu tail 
  • Vyas anu tail 
  • Jiva anu oil 
  • Basic ayurveda anu taila 

Anu tail faq in hindi 

Que -अणु तेल के सेवन से क्या महिलाओ के मासिक धर्म पर कोई प्रभाव नहीं पढ़ता है | 

Ans -नहीं ,यह पुरी तरह सुरक्षित है | 

Que -क्या अणु तेल के उपयोग के बाद ड्राइविंग कर सकते है ?

Ans -हाँ ,पुरी तरह से सुरक्षित है | 

Que -क्या यह औषधि शरीर के आकर में वृद्धि कर सकती है ?

Ans -नहीं 

Que -क्या यह दवा कफ ,सर्दी ,जुकाम आदि में लाभदायक है ?

Ans -हाँ 

 

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
Best Wordpress Adblock Detecting Plugin | CHP Adblock