कंकायन बटी (अर्श ,गुल्म )के फायदे2021 ,उपयोग ,घटक क्या है ?kankayan vati uses in hindi | kankayan vati benefits in hindi

कंकायन बटी (अर्श ,गुल्म )के फायदे ,उपयोग ,घटक क्या है ?kankayan vati uses in hindi | kankayan vati benefits in hindi 

कंकायन बटी क्या होता है ?what is kankayan vati in hindi | 

कंकायन बटी खूनी और वादी दोनों प्रकार के बवासीर के लिए बहुत अच्छी दवा है | इस बटी का प्रयोग पाचन शक्ति को सुधारने के लिए भी प्रयोग किया जाता है | 

इस बटी के सेवन से कब्ज की समस्या खत्म हो जाती है | इसकी तासीर गर्म होती है | खूनी और वादी दोनों प्रकार के बवासीर के लिए यह बहुत अच्छी दवा है | इसके सेवन से बवासीर के मस्से सूख जाते है और बवासीर में कब्ज रहने के कारण टट्टी के समय जो तकलीफ होती है ,वह भी समाप्त हो जाती है | इसकी बटी दो प्रकार की होती है | कंकायन बटी अर्श और कंकायन बटी गुल्म | आज इस लेख में हम दोनों बटी का एक साथ विस्तार से देखेंगे | 

धातु पौष्टिक चूर्ण के क्या फायदे है2021 | क्या नुकसान है | और इसकी क्या उपयोगिता है | dhatupaushtik churna benefits in hindi| dhatupaushtik churna in hindi

कंकायन बटी के तत्त्व क्या -क्या है ?kankayan vati composition 

इसके तत्त्व को दो भाग में बाट सकते है , जो बताया गया है | 

कंकायन बटी अर्श ,कंकायन बटी गुल्म | 

Kankayan vati arsh 

  • हरड़ का वक्कल 
  • काली मिर्च 
  • जीरा 
  • पीपल 
  • पीपलामूल 
  • चव्य 
  • चीता 
  • सोंठ 
  • शुद्ध भिलावा 
  • जिमिकंद 
  • यवक्षार 
  • गुड़  

Kankayan vati gulm 

  • कचूर 
  • पोहकरमूल 
  • दन्ती 
  • चीता 
  • अरहर की जड़ 
  • अदरक 
  • बच 
  • निसोथ 
  • हींग 
  • जवाखार 
  • अम्लवेत 
  • अजवायन 
  • जीरा 
  • काली मिर्च 
  • धनिया 
  • कलौंजी 
  • अजमोद 
  • बिजौरा 
  • नीबू के रस 

कंकायन बटी को बनाने की विधी | 

इन दोनों प्रकार की बटी को बनाने के लिए अलग -अलग बताया गया है | 

  • कंकायन बटी अर्श 

इसको बनाने के लिए सबसे पहले हरड़ का बक्कल 20 तोला ,काली मिर्च ,जीरा और पीपल 4 -4 तोला ,पीपलामूल 8 तोला ,चव्य 12 तोला ,चीता 16 तोला ,सोंठ 20 तोला ,शुद्ध भिलावा 32 तोला ,जिमिकंद 64 तोला ,यवक्षार 8 तोला और गुड़ सबसे दूना लेकर अच्छी तरह से कूट ले | और 4 -4 रत्ती की गोलियाँ बना ले | 

  • कंकायन बटी गुल्म 

कपूर ,पोहकरमूल ,दन्ती ,चीता ,अरहर की जड़ ,अदरक ,बच ,निसोथ प्रत्येक 4 -4 तोला ,हींग 12 तोला ,जवाखार 8 तोला ,अम्लवेत 8 तोला ,अजवायन ,जीरा ,काली मिर्च और धनिया प्रत्येक 1 -1 तोला ,कलौंजी और अजमोद 2 -2 तोला सब को अच्छी तरह से कूटकर चूर्ण करके बिजौरा नीबू के रस में घोटकर 3 -3 रत्ती की गोलियाँ बना ले ,प्रयोग करे | 

Note -1 तोला =11. 66 ग्राम 

1 रत्ती =121 . 50 मिलीग्राम 

कंकायन बटी के गुण ,उपयोग | kankayan vati uses in hindi 

  • कंकायन बटी अर्श के गुण –

इस दवा की बात की जाये तो यह दवा खूनी और वादी दोनों प्रकार के बवासीर के लिए बहुत अच्छी दवा मानी जाती है | इसके प्रयोग से बवासीर में जो मस्से होते है | वह पुरी तरह से सूख जाते है | और अगर कब्ज की समस्या है | तो टट्टी करने में कठिनाई होती है ,वह ठीक हो जाती है | बवासीर के साथ उपद्रव रूप में होने वाली अग्निमाद्य तथा पाण्डु रोग आदि भी अच्छे हो जाते है | इसके सेवन से मन्दाग्नि ,उदरशूल आदि अर्श के मूलजनक विकार भी मिट जाते है अर्श (बवासीर )रोग की यह सुप्रसिद्ध दवा है | 

  • कंकायन बटी गुल्म के गुण 

यह बटी गुल्म रोग के लिए प्रसिद्ध दवा है | अनेक बार की अनुभूति भी है | गुल्म रोग के अतिरिक्त बवासीर और ह्रदय रोग तथा कृमि रोग के लिए भी उपयोगी है | 

कंकायन बटी के फायदे | kankayan vati benefits in hindi 

  • यह खूनी और वादी दोनों प्रकार के बवासीर की अच्छी दवा है | 
  • कब्ज को ठीक करने लिए इसका प्रयोग बार -बार किया जाता है | 
  • पाचन क्रिया मजबूत बनाने में प्रयोग | 
  • पेट दर्द के लिए अच्छी औषधि मानी जाती है |  
  • मंदाग्नि में अच्छा काम करता है | 
  • यह वात ,पित्त ,और कफ को भी ठीक करती है | 
  • यह भूख को बढाती और लीवर को सही स्वस्थ रखती है | 

मात्रा और सेवन विधी | 

  • Kankayan vati arsh 

इसके सेवन के लिए 2 -4 गोली सुबह -शाम मट्ठा के साथ प्रयोग करे | 

  • Kankayan vati gulm 

इसका सेवन विधी 2 -3 गोली सुबह -शाम और दोपहर गर्म जल ,घृत या गोदुग्ध के साथ सेवन करे | गोमूत्र के साथ सेवन करने से पुराना कफ गुल्म ,दूध के साथ सेवन करने से पित्त गुल्म और कांजी के साथ सेवन करने से वातज गुल्म होता है | त्रिफला के क्वाथ या गोमूत्र के साथ सेवन करने से गुल्म ठीक हो जाते है | 

Note -बिना डॉक्टर के सलाह के कोई भी दवा प्रयोग न करे | 

कंकायन बटी के साइड इफेक्ट 

इस दवा का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं पाया गया है | लेकिन इसकी तासीर गर्म होने के कारण अधिक मात्रा में सेवन करने से बवासीर आदि बढ़ जाता है | 

Kankayan vati की price 

Baidyanath kankayan vati 

ऑनलाइन amazon से आर्डर करने पर 3 पैक 40 टेबलेट का मूल्य 171 रूपया है | 

Tansukh kankayan vati 

10 ग्राम टेबलेट का मूल्य 55 रूपया है | 

डाबर कंकायन गुटिका 

20 गोली का मूल्य 42 रूपया है | 

Kankayan vati ds 

10 टेबलेट का मूल्य 31 रूपया है | 

इस दवा को बनाने वाली कंपनी का नाम क्या -क्या है | 

  • Baidyanath kankayan vati 
  • Tansukh kankayan vati 
  • Dabur kankayan gutika 
  • Kankayan vati ds 

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
Best Wordpress Adblock Detecting Plugin | CHP Adblock