चित्रकादि वटी के फायदे2021 और नुकसान ,घटक और उपयोग | chitrakadi vati in hindi | chitrakadi vati benefits

चित्रकादि वटी के फायदे और नुकसान ,घटक और उपयोग | chitrakadi vati in hindi | chitrakadi vati benefits | baidyanath  chitrakadi vati 

चित्रकादि वटी क्या होता है ?what is chitrakadi vati in hindi 

अगर शरीर में आमाशय बीगड़ जाता है तो अन्न का पाचन सही ढंग से नहीं होता है | खाया हुआ पदार्थ दस्त के रूप में बाहर आने लगता है | ऐसी अवस्था को ठीक करने के लिए आयुर्वेद में चित्रकादि वटी का प्रयोग किया जाता है | जैसा की नाम से ही मालूम चल रहा है | इसमें चित्रक औषधि मिले होने के कारण इसे चित्रकादि वटी कहते है | इसमें पाचन क्रिया बहुत अच्छी तरह से कार्य करने लगता है | पेट में वायु या कफ प्रकोप होने पर ,उदरशूल आदि में तुरंत लाभ होता है | 

चित्रकादि वटी के घटक द्रव्य | chitrakadi vati ke ghatak dravya 

  • चित्रकमूल की छाल 
  • पीपलामूल 
  • सज्जीखार 
  • यवक्षार 
  • सेंधानमक 
  • सोंचर नमक 
  • काला नमक 
  • समुद्र नमक 
  • सांभर नमक 
  • सोंठ 
  • काली मिर्च 
  • छोटी पीपल 
  • घी में सेंकी हुई हींग 
  • अजमोद 
  • चव्य 

चित्रकादि वटी बनाने की विधी 

आयुर्वेद में इस वटी को बड़े आसानी से बनाया जा सकता है | जो भी घटक द्रव्य दिये गये है | जैसे चित्रकमूल की छाल ,पीपलामूल ,सज्जीखार ,यवक्षार ,सेंधा नमक ,सोंचर नमक ,काला नमक ,समुद्र नमक ,सांभर नमक ,सोंठ ,काली मिर्च ,छोटी पीपल ,घी में सेकी हुई हींग ,अजमोद ,चव्य ,सबका समान भाग लेकर अच्छे से कूटकर चूर्ण बना ले फिर दाड़िम के रस में 1 दिन तक मिलाकर रखे | उसके बाद चने के बराबर गोलिया बनाकर सूखा ले | और प्रयोग करे | 

वक्तव्य –इस युक्ति के अनुसार अजमोदा के स्थान पर अजवायन डालकर बनाना बहुत उत्तम है | 

चित्रकादि वटी के गुण और उपयोग | chitrakadi vati uses in hindi 

आमाशय के बिगड़ जाने पर अन्न ठीक से हजम नहीं होता हो ,अर्थाथ खाये हुए पदार्थो का अच्छी तरह से न पचने पर कच्चा मल दस्त के साथ निकलता हो तो जल के साथ सुबह -शाम इसका सेवन करने से आग प्रदीप्त हो जाती और भूख खुलकर लगने लगती है | अन्न का अच्छी तरह से पचने पर आँव का बनना बिल्कुल बंद हो जाता है और पाचनशक्ति ठीक हो जाती है | आँव पाचन के लिए यह वटी सर्वोत्तम लाभदायक है | पेट में वायु का या कफ का प्रकोप होने पर उदरशूल ,पेशाब कम होना आदि कष्ट हो जाते है ,उनमे इस वटी के सेवन से शीघ्र लाभ होता है | 

और पढ़े -स्वपनदोष से छुटकारा और वीर्य बढ़ाने की ताकतवर औषधि |

चित्रकादि वटी के फायदे | chitrakadi vati in hindi 

  • पाचन शक्ति को सुधारने के लिए | 

अगर मनुष्य का पाचन शक्ति ठीक होता है | वह बहुत सारे रोगो से बच जाता है | इसी को सुधारने के लिए chitrakadi vati का प्रयोग किया जाता है | 

  • मूत्रविकार में प्रयोग | 

अगर पेशाब की नली में सूजन है और पेशाब करने पर जलन होती है | पेशाब खुलकर साफ नहीं होता हैं | ऐसी स्तिथि में चित्रकादि वटी का सेवन बहुत फायदेमंद है | 

  • पेचिश  में उपयोग | 

यह पेचिश में बहुत प्रयोग की जाती है | अगर मल त्यागने पर खून भी आता है | और बार -बार मल त्यागने की इच्छा बनी रहती है | ऐसी स्थिति में चित्रकादि वटी बहुत ही लाभदायक औषधि मानी जाती है | 

  • भूख बढ़ाने के लिए प्रयोग | 

इसके प्रतिदिन सेवन करने से भूख खुलकर लगती है | और भोजन का पाचन भी अच्छे ढंग से होता है | कुछ लोगो को खाना देखते ही उल्टी की समस्या होती है | ऐसी स्थिति में इसका प्रयोग बहुत फायदेमंद है | 

  • कब्ज से राहत | 

अगर लिवर सही ढंग से काम नहीं करता है | तो बार -बार कब्ज बनता है | ऐसी स्थिति में chitrakadi vati के सेवन से कब्ज में राहत मिल जाती है | 

  • एसिडिटी में प्रयोग | 

अगर छाती में जलन होती है | बार -बार होती है | ऐसी स्तिथि में इस औषधि के प्रयोग से तुरंत लाभ मिलता है | 

चित्रकादि वटी मात्रा और अनुपात | 

इसे प्रतिदिन 2 से 4 गोली जल के साथ भोजन के बाद दे , तुरंत लाभ होगा | 

चित्रकादि वटी के नुकसान | chitrakadi vati side effects in hindi 

वैसे तो इस दवा का कोई नुकसान नहीं देखा गया है | कुछ लोग इस दवा को अपने आप ओवर डोज़ लेना सुरु कर देते है | जिससे यह दवा बहुत सारी दिक्कते करती है | उल्टी जैसा मन होना ,आँखों में जलन ,ब्लड प्रेशर जैसी समस्या उत्पन्न हो जाती है | 

Chitrakadi vati price 

  • पतंजलि चित्रकादि वटी प्राइस | 

60 टेबलेट की price 47 रुपये है | 

  • डाबर चित्रकादि गुटिका प्राइस 

80 टेबलेट की प्राइस 72 रुपये है | 

  • बैद्यनाथ चित्रकादि वटी price | 

80 टेबलेट का मूल्य 168 ऑनलाइन आर्डर करने पर है | 

  • स्वदेशी चित्रकादि वटी 

80 गोली का मूल्य 76 रुपये है | 

  • Unjha chitrakadi gutika price | 

10 ग्राम का मूल्य 51 रुपये है | 

इस औषधि को कौन कौन सी ब्रांड बनाती है | 

  • पतंजलि चित्रकादि वटी 
  • डाबर चित्रकादि गुटिका 
  • Swadeshi chitrakadi gutika 
  • Unjha chitrakadi gutika 
  • Baidyanath chitrakadi gutika 

Chitrakadi vati faq in hindi 

Que -इस औषधि का प्रयोग खाना -खाने बाद करना चाहिए या पहले | 

Ans -बाद में 

Que -क्या इसे गर्भवती महिलाओ को देना उचित है | 

Ans -गर्भवती महिलाओ को इसके प्रयोग से बचना चाहिए | या डॉक्टर के परामर्श से ही प्रयोग करना चाहिए | 

Que -इसका सेवन एक दिन में कितनी बार करे ?

Ans -इसका सेवन दो बार सुबह -शाम करना चाहिए | 

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
Best Wordpress Adblock Detecting Plugin | CHP Adblock